डकैती के मामले में फरार शातिर बदमाश पर शिकंजा

 
डकैती के मामले में फरार शातिर बदमाश पर शिकंजा
पिंपरी। संवाददाता – डकैती के मामले में गत तीन माह से फरार चल रहे एक शातिर बदमाश को पिंपरी चिंचवड पुलिस की क्राइम ब्रांच के डकैती व फिरौती विरोधी दस्ते ने सांगवी के माकन चौक से धरदबोचा। अक्षय उर्फ जोग्या हेमंत जाधव (24, निवासी जुनी सांगवी, पुणे) ऐसा धराये गए बदमाश का नाम है। वह पुलिस रिकॉर्ड पर दर्ज एक शातिर बदमाश है। उसके पिंपरी चिंचवड और सातारा में खिलाफ हत्या का प्रयास जैसे छह संगीन मामले दर्ज हैं।
डकैती व फिरौती विरोधी दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधीर अस्पत से मिली जानकारी के अनुुुसार, दस्ते की टीम चेन पुलिंग और एटीएम चोरी के मामलों के आरोपियों की खोजबीन में जुटी थी। इसी दौरान पुलिस नाईक निशांत काले, सिपाही आशिष बनकर को मुखबिर से जानकारी मिली कि गत तीन माह से सांगवी पुलिस को चकमा दे रहा एक बदमाश जुनी सांगवी के माकन चौक में आने वाला है।
इसके अनुसार जाल बिछाकर उसे हिरासत में लिया। पूछताछ में उसने सांगवी थाने में दर्ज डकैती की वारदात स्वीकार की।
अक्षय के खिलाफ चतुःशृंगी पुलिस थाने में भी मारपीट का एक मामला दर्ज है। उसमें भी वह फरार चल रहा था। उसके खिलाफ सांगवी थाने में हत्या के प्रयास के तीन, मारपीट का एक, चतुःश्रृंगी पुलिस थाने में मारपीट का एक व सातारा पुलिस में एक कुल छह मामले दर्ज हैं। उसे धरदबोचने में डकैती व फिरौती दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधीर अस्पत, उपनिरीक्षक विठ्ठल बढे, कर्मचारी निशांत काले, आशिष बनकर, प्रवीण माने की टीम ने हिस्सा लिया।
शातिर बदमाश तड़ीपार
सांगवी पुलिस के रिकॉर्ड पर दर्ज शातिर बदमाश बरकत उर्फ लल्या महम्मद जमादार (22, निवासी जवलकरनगर, पिंपले गुरव, पुणे) को दो साल के लिए पुणे जिले से तड़ीपार किया गया है। उसके खिलाफ हत्या का प्रयास, लूटपाट, मारपीट जैसे तीन मामले दर्ज हैं। उसके खिलाफ पहले भी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई थी, इसके बाद भी उसमें कोई सुधार नहीं आया। आपराधिक गतिविधियों में बढ़ती संलिप्तता को ध्यान में रखकर सांगवी थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ज्ञानेश्वर साबले ने अक्षय को तड़ीपार करने का प्रस्ताव दिया था, जिसे मंजूरी मिल गई है।

वेब से