पिंपरी : हितेश मूलचंदानी मर्डर केस में दो आरोपी गिरफ्तार

 
पिंपरी : हितेश मूलचंदानी मर्डर केस में दो आरोपी गिरफ्तार

पिंपरी : पुणेसमाचार ऑनलाईन – होटल के बाहर हुए मामूली विवाद में हितेश गोवर्धनदास मूलचंदानी (23, निवासी बी ब्लॉक, पिंपरी कैम्प, पुणे) नामक युवक को अगवा कर उसकी निर्मम हत्या की वारदात में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। पुणे पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट 4 की टीम ने बुधवार की रात इस मामले के दो आरोपियों को औंध के स्पाइसर कॉलेज रोड से धरदबोचा है। वारदात में इस्तेमाल की गई सुमो जीप को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

अक्षय संजय भोसले उर्फ लिंगा और योगेश विट्ठल टोनपे उर्फ लंगड़ा ऐसे गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम है। यूनिट 4 के पुलिस कर्मचारी राजू मचे को इन दोनों के बारे में मुखबिर से पता चला था। इसके अनुसार आज रात स्पाइसर कॉलेज रोड परिसर से दोनों को जाल बिछाकर पकड़ लिया। उनके साथ ही वारदात में इस्तेमाल की गई सुमो जीप भी बरामद कर ली गई है। दोनों भी सांगवी पुलिस के रिकॉर्ड पर दर्ज शातिर अपराधी है। उन दोनों को पिंपरी पुलिस के हवाले करने की कानूनी प्रक्रिया शुरू है।

गौरतलब हो कि, मंगलवार के तड़के तीन बजे के करीब पिंपरी स्टेशन के पास कुणाल होटल के सामने पेशाब करने से मना करने पर होटल के कर्मचारियों और कुछ लोगों में विवाद हुआ। उनके कुछ साथी पास में जीप में बैठे थे। हाथापाई के बाद होटल के कर्मचारियों ने झगड़ा करनेवालों में से एक को पकड़ लिया। इस घटना की जानकारी मिलते ही होटल मालिक का चचेरा भाई लखन सुखेजा, हितेश के साथ, कराची चौक में पहुंचा। जब ये लोग वहां पहुंचे तब विवाद और हाथापाई शुरू थी। बाहर जीप में बैठे लोगों ने हितेश से मारपीट कर उसे जबरन जीप में बिठाया और उसे लेकर पिंपरी चौक चले गए।

यहां पिंपरी चिंचवड़ मनपा मुख्यालय के पीछे वरदहस्त सोसाइटी से सटे सुनसान रोड पर ले जाकर उसकी निर्ममता से उसकी हत्या कर दी। होटल मालिक रोहित किशोर सुखेजा (26) निवासी एचबी ब्लॉक, शनि मंदिर के पास, पिंपरी की शिकायत के आधार पर पुलिस ने अमीन फिरोज खान निवासी मोमिनपुरा, गंजपेठ, पुणे, शाहबाज सिराज कुरेशी निवासी कासारवाडी, पुणे, अरबाज शेख निवासी खड़की, अक्षय संजय भोसले उर्फ लिंगा और योगेश विट्ठल टोनपे उर्फ लंगड़ा दोनों निवासी सांगवी, पुणे के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस मामले में फरार शाहबाज की तलाश जारी है। अमीन खान को पिंपरी पुलिस ने पहले ही हिरासत में ले रखा है।

बहरहाल इस वारदात से पिंपरी कैम्प के व्यापारियों और नागरिकों में भारी आक्रोश व्याप्त है। हितेश का मृतदेह पिंपरी चौकी ले जाया गया। उसके हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ कर उन्हें फांसी देने और हितेश को इंसाफ देने की मांग की गई। इसके साथ ही आज पूरा पिंपरी कैम्प बंद रखने के बाद शाम को कैंडल मार्च निकाला गया। इसमें महिलाओं की मौजूदगी उल्लेखनीय रही। पिंपरीवासियों ने कैम्प में पुलिस की गश्त बढ़ाने और देर रात तक शुरू रहनेवाले बीयर बार और होटलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

वेब से