अनिल अंबानी पर गहराए संकट के बादल, 3 बैंकों ने 48.53 अरब रुपये को लेकर मुकदमा दायर किया

 
अनिल अंबानी पर गहराए संकट के बादल, 3 बैंकों ने 48.53 अरब रुपये को लेकर मुकदमा दायर किया

नई दिल्ली : समाचार ऑनलाइन – रिलायंस ग्रुप के अध्यक्ष अनिल अंबानी की समस्याएँ कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अब उन पर लंदन की एक अदालत में तीन चीनी बैंकों ने 68 करोड़ डॉलर (48.53 अरब रुपए) के कर्ज मामले में मुकदमा दायर किया है. साल 2012 में, इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ़ चाइना और चाइना डेवलपमेंट बैंक और एक्सपोर्ट बैंक ऑफ़ चाइना की मुंबई शाखा ने प्राइवेट गारंटी की शर्त पर अनिल अंबानी की फर्म रिलायंस कम्युनिकेशन को 92.52 करोड़ रुपये (66.03 अरब रुपए) का लोन दिया था. यह जानकारी ICBC के वकील बंकिम थांकी ने अदालत में दी है. बैंक का कहना है कि अंबानी ने फरवरी 2017 से बैंक की किस्तों का भुगतान नहीं किया है.

इस संबंध में, अंबानी का कहना है कि, उन्होंने ऋण के दौरान किसी भी निजी संपत्ति को गारंटी के रूप में नहीं रखा था. बता दें कि पिछले कुछ दिनों से अंबानी वित्तीय समस्याओं के चलते परेशानी में हैं. वे देश के सबसे अमीर लोगों की सूची में भी बहुत पीछे आ गए हैं. वहीं उनके भाई मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के 14 वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं, जिनकी संपत्ति 56 बिलियन डॉलर है.

खबर है कि अनिल अंबानी पर अभी भी चार कंपनियों का 93,900 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया है. इसमें से 700 करोड़ का लोन रेड नेवल और इंजीनियरिंग के हैं; जबकि आर कैप पर अधिकतम 38,900 करोड़ रुपये का कर्ज है. उसके बाद नंबर रिलायंस पावर का है. कंपनी पर 30,200 करोड़ रुपये का कर्ज है, इसके अलावा रिलायंस इंफ्रा पर 17,800 करोड़ रुपये का कर्ज है.

गुरुवार को अदालत की सुनवाई के दौरान, ICBC के वकील ने न्यायाधीश डेविड वैक्समैन से कहा कि, अंबानी को कर्ज की पूरी राशि और ब्याज का भुगतान करना चाहिए. लेकिन अंबानी ने अपनी संपत्ति का ब्योरा देने से इनकार कर दिया है.

 

वेब से