क्या आप जानते हैं चाँद पर जाने वाले भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों का Food Menu, नहीं तो जानें ISRO के ‘इन’ 22 पकवानों की ‘लिस्ट’   

 
क्या आप जानते हैं चाँद पर जाने वाले भारतीय अंतरिक्ष यात्रियों का Food Menu, नहीं तो जानें ISRO के ‘इन’ 22 पकवानों की ‘लिस्ट’   

समाचार ऑनलाइन- अधिकतर लोगों के मन में यह जानने की जिज्ञासा होती है कि जो लोग अंतरिक्ष में जाते हैं, वे क्या खाते हैं. आज आपको इस आर्टिकल के जरिए बताने जा रहे हैं. वह इसलिए क्योंकि अगले साल यानि कि साल 2021  में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अपना पहला मानवयुक्त अंतरिक्ष मिशन गगनयान भेजने वाला है, जिसमें चार लोग चांद पर जाएंगे। इन चारों को इसरो ने देशभर से चुना है. इसलिए सभी में यह जानने की जिज्ञासा और ज्यादा बढ़ गई है कि ये सभी अंतरिक्ष में जाने के बाद महीनों तक क्या खाएंगे.

इसरो सैटेलाइट लॉन्च (फाइल फोटो)

तो जानते हैं अंतरिक्ष के सफर पर जा रहे लोगों का फ़ूड मेनू…

बता दें कि मैसूर में रक्षा खाद्य अनुसंधान प्रयोगशाला (DFRL – Defence Food Research Laboratory) ने इन अंतरिक्ष यात्रियों के लिए 22 तरह के पकवान बनाए हैं, जिनमें  हल्का-फुल्का खाना, ज्यादा ऊर्जा वाला खाना, ड्राई फ्रूट्स और फल भी शामिल हैं। फ़िलहाल इन सभी खाद्य पदार्थों को जांच के लिए इसरो भेजा गया है.

अंतरिक्ष यात्रियों के लिए तैयार किया गया खाना

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 1984 में अंतरिक्ष मिशन पर जाने वाले पहले भारतीय राकेश शर्मा के लिए भी DFRL ने ही खाना बनाया था.

अंतरिक्ष यात्रियों के लिए तैयार किया गया खाना

अंतरिक्ष यात्रियों का MENU

DFRL के निदेशक डॉ. अनिल दत्त सेमवाल ने जानकारी दी कि…

  • अंतरिक्ष यात्रियों की पसंद के अनुसार मेनू निर्धारित किया जाएगा. साथ ही इसरो की एक टीम इनकी जांच करेगी.
  • ‘एस्ट्रोनॉट्स के लिए शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह का फ़ूड तैयार किया जाएगा.
  • एस्ट्रोनॉट्स को खाना गर्म करने के लिए एक उपकरण भी दिया जाएगा, जिसके इस्तेमाल से वे करीब 92 वॉट बिजली से खाना गर्म कर सकेंगे. ये उपकरण भोजन को 70 से 75 डिग्री तक गर्म कर सकता है।
  • अंतरिक्ष यात्रियों को दिए जाना वाला खाना खाना स्वस्थ है, जो कि 1 साल तक चल सकता है. बशर्ते इसे खोला न जाए. इन खाने के पैकेटस को खोलने के 24 घंटे के भीतर खत्म करना जरूरी है, नहीं तो यह आम खाने की तरह खराब हो जाता है. अगर नहीं खोला गया तो यह 1 साल तक फ्रेश रह सकता है.
  • मेनू में चिकन करी और बिरयानी भी शामिल है.
  • इसके अलावा अनानास और कटहल जैसे स्नैक्स भी दिए जा रहे हैं. साथ ही रेडीमेड इडली-सांबर भी मेनू का हिस्सा है. इन्हें पानी डालकर खाया जा सकता है.
  • rakesh sharma (File Photo)

डॉ. अनिल दत्त सेमवाल के मुताबिक अंतरिक्ष मिशन के लिए तैयार हर खाना नासा द्वारा तय कड़े मानदंडों के मुताबिक बनाया गया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चयनित चारों अंतरिक्ष यात्री इस माह के तीसरे हफ्ते में खास ट्रेनिंग के लिए रूस जाएंगे.

visit : punesamachar.com

वेब से