IRCTC तिमाही मुनाफा : ट्रेन टिकट बुकिंग और रेल नीर बिक्री से करोड़ों की ‘कमाई’, जानें

 
IRCTC तिमाही मुनाफा : ट्रेन टिकट बुकिंग और रेल नीर बिक्री से करोड़ों की ‘कमाई’, जानें

नई दिल्ली: समाचार ऑनलाइन- देश की अधिकतर जनता ट्रेन से सफर करती है. रेलवे द्वारा टिकट बुकिंग आसान बनाने के लिए IRCTC की वेबसाइट और ऐप की सुविधा दी गई है. इस सेवा का लोग भरपूर इस्तेमाल करते हैं. इसलिए ऑनलाइन टिकिट बुकिंग से IRCTC को काफी आर्थिक लाभ पहुंचता है. क्योंकि IRCTC इसके लिए अतिरिक्त शुल्क वसूलता है. इतना ही नहीं IRCTC द्वारा अन्य सेवाएँ भी मुहैया कराई जाती है, जहां से इसे मुनाफा प्राप्त होता है. गुरुवार को IRCTC ने तिमाही (अक्टूबर-नवंबर और दिसंबर) नतीजों का ऐलान करते हुए अपने मुनाफे की जानकारी दी है, जो इस प्रकार है…

कंपनी ने बताया है कि इस तिमाही में कंपनी की आय 435 करोड़ रुपये से बढ़कर 716 करोड़ रुपये हो गई हैं. वहीं लाभ में भी वृद्धि दर्ज की गई है. इस दौरान कंपनी का मुनाफा 73.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 206 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है. अर्थात् लाभ में 180% का उछाल आया हैं.

जानें अन्य मुनाफे…

1) इंटरनेट टिकट बुकिंग सेवा के माध्यम से IRCTC की आमदनी में तीन गुना की वृद्धि दर्ज हुई है. अर्थात् यह बढ़कर 227 करोड़ रुपये हो गई हैं.

2) IRCTC ने रेल नीर की बिक्री से कुल 58.6 करोड़ रुपये की आय प्राप्त की हैं. ये 42 फीसदी बढ़ी हैं.

3) केटरिंग यानी ट्रेन में खाना बेचने से IRCTC को दिसंबर तिमाही में 269 करोड़ रुपये की आय प्राप्त है.  यह 8.23 फीसदी वृद्धि है.

4) वहीं टूरिज्म पैकेज बेचकर IRCTC  को दिसंबर तिमाही में 95 करोड़ रुपये की आमदनी हुई. इसमें भी  15 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज हुई है.

प्रस्तावित ट्रेनें…

बता दें कि इस दौरान IRCTC ने देश की पहली दो प्राइवेट ट्रेन लखनऊ-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस (Lucknow-Delhi Tejas Express) और अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस की तर्ज पर इंदौर-वाराणसी रूट पर भी तीसरी काशी महाकाल एक्सप्रेस स्पेशल प्राइवेट ट्रेन चलाने की जानकारी है. मोदी 16 फरवरी को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से इसका शुभारंभ कर सकते हैं.

इस ट्रेन सेवा के शुरू होने के बाद श्रद्धालुओं के लिए बाबा विश्वनाथ (वाराणसी), उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर में ओंकारेश्वर ज्योर्तिलिंग का दर्शन करना आसान हो जाएगा.

वेब से