शर्मनाक ! मौलबी और युवक ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार, गांववाले पीड़िता के बच्चे का कर रहे सौदा

 
शर्मनाक ! मौलबी और युवक ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार, गांववाले पीड़िता के बच्चे का कर रहे सौदा
मुजफ्फरपुर, 9 नवंबर – बिहार के मुजफ्फरपुर से एक बार फिर से शर्मनाक और चौंकाने वाली घटना सामने आई है. यहां एक 15 साल की नाबालिग किशोरी के साथ पहले गांव के मौलबी और एक युवक ने दुष्कर्म किया। इसके बाद जब लड़की बिन ब्याही मां बन गई तो पुरे गांव ने पीड़िता परिवार को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने बच्चे को मां से अलग करने के लिए डेढ़ महीने के मासूम को बेचने का प्रयास किया और 20 हज़ार रुपए कीमत भी तय कर दी । दिल दहला देने वाली यह घटना मुजफ्फरपुर के कटरा की है । इस मामले में पीड़ित के पिता की मांग पर पुलिस ने विशेष जांच टीम गठित की है । मामले के आरोपी मौलाना को संदिग्ध बताते हुए युवक को गिरफ्तार करने का आदेश दिया गया है ।
2  महीने तक होता रहा दुष्कर्म 
नाबालिग से रेप का आरोपी मौलाना मकबूल मूलरूप से सीतामढ़ी का रहने वाला है । वह पिछले कुछ वर्षो से मुजफ्फरपुर के कटरा के एक मस्जिद में रहता है । उसके लिए गांव के अलग अलग घर से खाना भेजा जाता है ।  इसी क्रम में जब एक घर की नाबालिग मौलाना के लिए खाना लेकर आई तो मौलाना ने उसे पानी में नशीला प्रदार्थ मिलकर पिला दिया। लड़की के बेहोश होने पर मौलाना ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद अगले दो महीनो तक तीन बच्चों का पिता मौलाना उसके साथ दुष्कर्म करता रहा । उसने पीड़िता को इस बारे में किसी को बताने पर छुरा मार कर जान ले लेने की धमकी दी थी ।  इस बीच कटरा में ही रहने वाले मोहम्मद शोएब को मौलाना की हरकत का पता चल गया, उसके बाद वह भी लड़की को हवस का शिकार बनाने लगा ।
ननिहाल के लौटी तो खुला सारा सच  
बताया जाता है कि लड़की इसके बाद कुछ दिनों के लिए अपने नानी के घर चली गई थी ।  वहां से जब वह तीन महीने बाद लौटी तो उसकी मां को उसके गर्भवती होने का पता चला । घरवालों ने बच्चे का जन्म होने दिया। इस मामले में गांव में पंचायत बैठी जिसमे पीड़िता को ही घटना का कुसुरवार मानते हुए उसके परिवार का सामाजिक बहिष्कार कर दिया। पंचायत की करीब 4 बैठक के बाद मां को बच्चे से अलग करने का फैसला किया गया और बच्चे को 20 हज़ार रुपए में बेचने का निर्णय लिया गया । इस बात की जानकारी जब मुंबई में मजदूरी करने वाले पीड़िता के पिता को हुई तो उसने पंचायत का फैसला मानने से इंकार करते हुए महिला थाने में केस दर्ज करा दी । फिलहाल मामले की जांच चल रही है ।

वेब से