Video : सीएए यानी देश के विभाजन के पाप का  प्राश्चित

 
Video : सीएए यानी देश के विभाजन के पाप का  प्राश्चित

सूरत : समाचार ऑनलाइन – नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्ट्रशन के मुद्दे पर फ़िलहाल देश का राजनीतिक वातावरण काफी गर्म है. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश भर में विरोधी दलों के नेता एकजुट हो रहे है. सीएए और एनआरसी के खिलाफ विरोधी दलों दवारा आंदोलन किया जा रहा है. जबकि दूसरी तरफ सत्ताधारी भाजपा दवारा सीएए एनआरसी के समर्थन में रैली निकाली गई. इस दौरान केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता  प्रताप सारंगी नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है.

 

प्रताप सारंगी ने शनिवार (18 जनवरी ) को कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि जिन लोगो ने भारत की अखंडता और वंदे मातरम को मंजूर नहीं उन्हें देश में रहने का अधिकार नहीं है. साथ ही देश के विभाजन के पाप के प्राश्चित के रूप में नागरिकता संशोधन कानून होने की बात कही है. गुजरात में न्यूज़ चैनल से बात करते हुए उन्होंने विरोधियों पर निशाना साधा।
विरोधियों का अस्तित्व समाप्त हो रहा है
उन्होंने कहा कि देश का विभाजन का पाप कांग्रेस ने किया था लेकिन उसका प्राश्चित हम कर रहे है. ऐसे में इसके लिए कांग्रेस को नागरिकता संशोधन कानून का स्वागत  करना चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि इस कानून का विरोध क्यों किया जा रहा है ? क्योकि उनका अस्तित्व  समाप्त हो रहा है. इसलिए वह देश में आग लगाने का प्रयास कर रहे है. जो लोग इस तरह से काम करते है उन्हें देशप्रेमी  नहीं माना जाता हैं. जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता, अखंडता और वंदे मातरम मंजूर नहीं उन्हें इस देश में रहने का कोई अधिकार नहीं है.
72 सालों में धारा 370 हटाने का निर्णय नहीं लिया गया 
कुछ दिनों पहले सारंगी वंदे मातरम को लेकर आक्रामक भूमिका अपनाई थी. उन्होंने कहा था कि जो  लोग  वंदे मातरम स्वीकार नहीं करते है उन्हें भारत में रहने का अधिकार नहीं है. साथ ही उन्होंने धारा 370 हटाए जाने को लेकर भी कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि धारा 370 हटाने का निर्णय 72 सालों में नहीं लिया गया. ये मोदी सरकार है जिसने 72 वर्षों के बाद कश्मीर में नागरिको को सभी अधिकार दिए है. जम्मू और कश्मीर में स्थिति पूरी तरह शांतिपूर्ण है.
visit :  punesamachar.com

वेब से