BIG NEWS: फडणवीस ने फंड केंद्र को भेजा?  IT सेल का ‘मैसेज’ बीजेपी पर ही उल्टा पड़ा, और…

 
BIG NEWS: फडणवीस ने फंड केंद्र को भेजा?  IT सेल का ‘मैसेज’ बीजेपी पर ही उल्टा पड़ा, और

मुंबई: समाचार ऑनलाइन- मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने बहुमत सिद्ध करने से पहले ही इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद भाजपा के IT सेल ने फडणवीस के शपथ विधी का मैसेज वायरल कर, उनका समर्थन किया था। IT सेल के माध्यम से फडणवीस के 80 घंटे के CM पद के कार्यकाल को सराहा गया था। लेकिन IT सेल के इस प्रचार ने भाजपा को मुसीबत में लाकर खड़ा कर दिया है. या यूं कहें बीजेपी का पांसा पड़ गया है.

IT सेल द्वारा यह मैसेज वायरल किया गया था कि, राज्य की बड़ी-बड़ी योजनाओं के लिए सरकार के 40 हजार करोड़ रुपए फंड का महाविकास सरकार द्वारा दुरुपयोग ना किया जाए. इसलिए फडणवीस ने जल्दबाजी में मुख्यमंत्री की शपथ ली थी. मुख्यमंत्री बनते ही, इन 80 घंटों के दौरान फडणवीस ने 40 हजार करोड़ रुपये के फंड को केंद्र में सुरक्षित भेज दिया था. फडणवीस ने राज्य की भलाई के लिए यह निर्णय लिया था. इसलिए उनका अभिनंदन हैं. सोशल मीडिया पर यह संदेश वायरल हो रहा था, इसी बीच भाजपा सांसद अनंत कुमार हेगड़े ने दावा किया कि फडणवीस ने सरकारी निधि वापस भेज दी थी। इसके बाद राज्य में हलचल मच गई। इसके बाद शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने यह कहते हुए फड़नवीस पर निशाना साधा था कि यह महाराष्ट्र के साथ गद्दारी है. इसलिए, IT सेल का फडणवीस के 80 घंटे के कार्यकाल का समर्थन, विपक्षी खेमे में बीजेपी के विरोध का मुद्दा बन गया है.

हेगड़े के दावे को फड़नवीस ने किया खारिज

अनंत कुमार हेगड़े के दावे को फडणवीस ने खारिज कर दिया है। फडणवीस ने कहा है कि, ‘यह सब झूठ है. महाराष्ट्र का एक भी पैसा केंद्र को वापस नहीं किया गया है। मैंने दोबारा मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद, सिर्फ किसानों की मदद करने के अलावा कोई और निर्णय नहीं लिया है. उन्होंने व्हाट्सएप पर फैलाई जा रही सूचना पर भरोसा नहीं करने की अपील की है।

तो  फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद छोड़ना होगा

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए नवाब मलिक ने कहा कि, यदि सांसद अनंतकुमार हेगड़े के कहे अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य के 40,000 करोड़ रुपये वापस भेजे हैं, तो जनता इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगी। अगर ऐसा है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद छोड़ना होगा। नवाब मलिक ने कहा कि, यह राज्य के साथ अन्याय है और यह आग पूरे देश में फैलेगी. इस पर कोई भी राज्य चुप नहीं रहेगा।

visit : punesamachar.com

वेब से