चार महिलाओं से जबरन वेश्याव्यवसाय कराने के मामले में दो गिरफ्तार

चार महिलाओं से जबरन वेश्याव्यवसाय कराने के मामले में दो गिरफ्तार
– वेश्याव्यवसाय के लिए मुंबई और दिल्ली से लाते थे लड़कियां
– चार महिलाओं को वेश्याव्यवसाय के जंजाल से पुलिस ने छुड़वाया

पुणे – चार महिलाओं से जबरन वेश्यावसाय कराने के मामले में पुणे पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. यह दोनों आरोपी नौकरी देने के बहाने लड़कियों को पुणे लाते थे और जबरन वेश्यावसाय कराते थे. वेश्याव्यवसाय के लिए मुंबई और दिल्ली से लायी गई चार लड़कियों को पुणे पुलिस द्वारा रेस्क्यू किया गया है. पुणे के बिबवेवाडी इलाके से चार लड़कियों को छुड़वाया गया है. यह कारवाई मंगलवार (23 जनवरी ) को की गई. बिबवेवाडी रोड पर स्थित भारत पेट्रोल पंप के सामने लड़कियों का सौदा करके दो लोग लड़कियां लेकर जा रहे थे. पुलिस ने कारवाई करते हुए दो लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है.

राहुल उर्फ अतिष चंद्रकिशोर शर्मा (उम्र 25, निवासी लैंडमार्क सोसायटी, उंड्री) और विशाल उर्फ तेजबहादुर धनबहादुर छेत्री (उम्र 28, निवासी लैंडमार्क सोसायटी, उंड्री, मूल निवासी असम) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. प्राप्त जानकारी अनुसार सामाजिक सुरक्षा विभाग के पुलिस नाईक सतीश ढोले को जानकारी मिली थी कि राहुल शर्मा यह लड़कियों का सौदा करता है और बिबवेवाडी इलाके में रहता है. पुलिस ने खबर की पुष्टि होने के बाद जाल बिछाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया. इस दौरान आरोपियों के कार से तीन लड़कियां और नानापेठ इलाके स्थित लॉज से एक लड़की को छुड़वाया गया. इन सभी लड़कियों को महंमदवाडी हडपसर स्थित रेस्क्यु होम में भेजा गया है.

यह कारवाई क्राइम 2 के सहायक पुलिस आयुक्त संजय निकम के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर संजय पाटिल, महिला सहायक पुलिस इंस्पेक्टर शीतल भालेकर, पुलिस कर्मचारी सतीश ढोले, राजाराम घोगरे, नामदेव शेलार, नितीन तेलंगे, कविता नलावडे, राजेंद्र कचरे, रेवनसिध्द नरुटे, संदीप गिरहे, सरस्वती कागणे, सुप्रिया शेवाले और कोंढवा पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर मिलिंद गायकवाड व उनके स्टाफ द्वारा संयुक्त कारवाई की गई है.