Chandrakant Patil | चंद्रकांत पाटिल का प्रदेशाध्यक्ष पद जाएगा ? ; फडणवीस ने कहा…… 

पुणे (Pune News), 7 अगस्त : Chandrakant Patil | भाजपा नेताओं के दिल्ली दौरे को देखते हुए महाराष्ट्र भाजपा (Maharashtra BJP) में संगठनात्मक बदलाव होने की संभावना जताई जा रही है। चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) से प्रदेशाध्यक्ष पद (presidency) की जिम्मेदारी वापस लिए जाने की भी चर्चा शुरू हो गई है।  पुणे दौरे पर आये विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने स्पष्टता से इस पर जवाब देकर इस तरह की चर्चाओं को ख़ारिज कर दिया है।

अगले साल मुंबई सहित कई महत्वपूर्ण मनपा का चुनाव (municipal elections) होगा।  इस दृष्टि से भाजपा तैयारी  में जुटी है।  मुंबई मनपा (Mumbai Municipal Corporation) में सत्ता स्थापित करने  पर भाजपा ने अपना ध्यान केंद्रित किया है।  इसके लिए मनसे के साथ गठबंधन पर मंथन किया जा रहा है।  इन सभी बातों को देखते हुए भाजपा (BJP) में भी बदलाव की चर्चा शुरू हो गई है। हाल ही में देवेंद्र फडणवीस दिल्ली दौरे पर जाकर वापस आये है।  कहा जा रहा है कि उनकी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) के साथ बैठक हुई थी।

इसके बाद चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) व आशीष शेलार (Ashish Shelar) भी दिल्ली (Delhi) पहुंचे है।  अचानक चल रहे इस दौरे से पर्दे के पीछे क्या हो रहा है ? इसकी चर्चा शुरू हो गई है. चंद्रकांत पाटिल को हटाए जाने की चर्चा हो रही है।  फडणवीस ने इस पर आज विस्तार से खुलासा किया है।

 

उन्होंने कहा कि हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल (Central Cabinet) का विस्तार हुआ है।  कई नए मंत्री आये है।  उनसे मुलाकात करने और  महाराष्ट्र  (Maharashtra) की समस्याएं रखने के लिए हम दिल्ली गए थे।  इसके पीछे और कोई वजह नहीं है।  पार्टी में कोई संगठनात्मक बदलाव नहीं होगा।  प्रदेशाध्यक्ष बदलने की तो चर्चा तक नहीं है।
हमारे प्रदेशाध्यक्ष चन्द्रकांतदादा पाटिल बहुत अच्छा काम कर रहे है।  पार्टी उनके साथ है। हमारे हाईकमान भी उनके साथ है।  ऐसे में खिचड़ी नहीं पकाये।  पतंगबाजी नहीं करे। गलत खबर नहीं दे। खबर कम पड़ रही हो तो हमसे मांगे।

 

 

 

Bharatiya Janata Party | भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष का विवाद दिल्ली दरबार पहुंचा, चंद्रकांत पाटिल को प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाने के पार्टी में चल रही लॉबिंग

Mumbai BMC Election | शिवसेना 2022 का BMC चुनाव आदित्य ठाकरे के नेतृत्व में लड़ेगी ?